सोमवार, 25 मई 2009

संघ के वरिष्ठ प्रचारक विष्णु कुमार का निधन

भोपाल। संघ के वरिष्ठ प्रचारक और सेवा भारती के संरक्षक श्री विष्णु कुमार का कल सुबह निधन हो गया। वे लंबे समय से बीमार थे और दिल्ली में उनका इलाज चल रहा था। 66 वर्षीय श्री विष्णु कुमार का जन्म सन् 1933 में कर्नाटक के कोलार जिले के गौरीबिदनूरू ग्राम में हुआ था। घर में छह भाई और एक बहन हैं। श्री विष्णु कुमार हाई स्कूल में संघ के स्वयंसेवक बन गए थे। उन्होंने मेकैनिकल विषय में इंजीनियरिंग की उपाधि प्राप्त की। उनके एक भाई रामकृष्ण आश्रम के संन्यासी हैं और एक अन्य भाई संघ के प्रचारक रहे। श्री विष्णु कुमार 1958 में संघ के प्रचारक निकल गए। उनका प्रचारक जीवन उत्तरप्रदेश से शुरू हुआ।
संघ के सरसंघचालक श्री बालासाहब देवरस की प्रेरणा से श्री विष्णु कुमार ने दिल्ली की सेवा बस्तियों में सेवा काम शुरु किया। शुरुआती दिनों में 600 बस्तियों में यह काम शुरु हुआ। बाद के दिनों में देश के विभिन्न हिस्सों में सेवा भारती के नाम से काम का विस्तार हुआ। इन्ही के प्रयासों से दिल्ली में सेवाधाम के नाम से एक छात्रावास की शुरुआत हुई। इस छात्रावास और विद्यालय में पिछड़े समाज के बच्चों को सब प्रकार की सुविधा दी जाती है। भोपाल में विष्णु जी के ही प्रयासों से आनंदधाम परिसर का निर्माण हुआ। इस परिसर में वृद्धजनों को सब प्रकार की सुविधाएं मुहैया करायी जाती है।
सन् 1994 में श्री विष्णु कुमार मध्यक्षेत्र में सेवा कार्यों के विस्तार के लिए आए। अत्यन्त अल्प काल में ही मध्यक्षेत्र के विभिन्न प्रांतों में सेवा कार्यों का जाल फैल गया। वनवासी क्षेत्रों में एकल विद्यालय के साथ ही भोपाल में अनाथ बच्चों के लिए मात्छाया, वनवासी बच्चों के लिए वनवासी विद्यालय आदि का निर्माण और विस्तार किया। मध्यक्षेत्र में आज हजारों की संख्या में वनवासी विद्यालयों का संचालन किया जा रहा है।
श्री विष्णु कुमार के सरल और सह्दय व्यक्तित्व को सभी ने पसंद किया और सराहा। आज सायं 5ः30 बजे दिल्ली में उनका अंतिम संस्कार सम्पन्न हुआ। मध्यक्षेत्र के संघचालक श्री श्रीकृष्ण माहेश्वरी, मध्यभारत प्रांत के संघचालक श्री शशीभाई सेठ और विभाग संघचालक श्री कांतिलाल चतर, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सेवा प्रमुख श्री प्रदीप खांडेकर, सेवा भारती के प्रांत संगठनमंत्री श्री संजय शर्मा ने श्री विष्णु कुमार के निधन पर अपनी शोक संवेदना व्यक्त की है। सेवा भारती भोपाल ईकाई के सचिव श्री सोमकांत उमालकर ने बताया कि श्री विष्णु कुमार की अन्त्येष्टि में विश्व हिन्दू परिषद् के अध्यक्ष श्री अशोक सिंहल, महामंत्री श्री ओंकार भावे, पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री सत्यनारायण जटिया, राज्यसभा सांसद श्री गोपाल व्यास, दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष डाॅ. हर्षवर्धन, मध्यप्रदेश भाजपा के संगठन महामंत्री माखन सिंह चैहान, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ दिल्ली प्रांत के कार्यवाह श्री विजय कुमार, प्रांत प्रचारक श्री प्रेम कुमार और राष्ट्रीय सेवा भारती के कार्यालय मंत्री श्री सुरेश अग्रवाल उपस्थित थे।

1 टिप्पणी:

बेनामी ने कहा…

बहुत दुःख हुआ . वे एक live-wire थे . उनसे मिलकर आपको लगता था की बस उठें और लग जाएँ वंचितों के कल्याण में . यद्यपि उनकी ऊर्जा का परिमाण इतना विशाल था कि उनके साथ चलना दुष्कर. उनका पदार्पण जब भी मेरे घर में हुआ, आशीर्वाद के साथ उनकी जिज्ञासा और हिदायतों ने हमेशा प्रेरित किया. बच्चों जैसा कौतुक और बुजुर्गों जैसी समझ.
उन जैसे साधू को क्या श्रद्धांजलि दी जाये? उन्मुक्त, अपने दरिद्र-नारायण की अनन्य भक्ति में लीन, उन्हें किसी प्रशंसा से जब जीवन में मतलब न रहा तो ऐसे निरहंकार प्राणी को देहांत के बाद क्या व्यापेगा?
एक रिक्तता हो गयी. अपूरणीय.
अनुराधा शंकर्