शुक्रवार, 29 अगस्त 2008

आदर्श ग्राम के सपने को साकार करेगा भाऊ साहब भुस्कुटे न्यास

(बनखेड़ी से अनिल सौमित्र)

गांव के पढ़ने वाले विद्यार्थियों को भी अच्छी व्यवस्था मिले, वे शहर के साथ प्रतिस्पद्र्धा के लिए सक्षम बनें, उनकी योग्यता व क्षमता का समुचित उपयोग हो, इसी उद्देश्य से भाऊ साहब भुस्कुटे स्मृति लोक न्यास, गोविन्द नगर, (बनखेड़ी, म. प्र.) में सर्वांगीण ग्राम योजना का प्रकल्प संचालित कर रहा है। गोविन्द नगर म.प्र. की राजधानी भोपाल से लगभग 200 कि. मी. की दूरी पर है। भाऊ साहब भुस्कुटे का नाम तो ख्यात नहीं हुआ किन्तु उनका काम अवश्य ख्याति को प्राप्त हुआ। आज उन्हीं की प्रेरणा से उनके ही सपनों को साकार करने में कुछ तपस्वी लगे हैं। न्यास के सचिव श्री यावलकर जी कहते हैं - हम समाज की चेतना और ऊर्जा को जागृत कर आदर्श समाज की स्थापना करेंगे। इसी निमित्त से यह न्यास शिक्षा, स्वास्थ्य, आर्थिक स्वावलंबन और ग्रामीण विकास के अन्य कार्यों में लगा है। श्री यावलकर की आँखें निर्दोष किन्तु सपनों से भरी हैं। उनकी आँखों मं श्री भाऊ साहब के ही सपने हैं। एक समग्र रूप से विकसित और आदर्श गांव का सपना !1991 में स्थापित यह न्यास अपने स्थापना काल से ही ग्राम विकास की कल्पना को आकार दे रहा है। हाल ही में न्यास ने ग्रामीण क्षेत्रांे में जड़ी-बूटियों, औषधीय पौधों के उत्पादन विस्तार एवं उपयोगिता द्वारा महिला तथा बच्चों की स्वास्थ्य रक्षा के लिए एक बहुआयामी प्रकल्प की शुरूआत की है। इसके अंतर्गत प्रारम्भ में बनखेड़ी विकास खण्ड के सभी गांवों से चुने हुए प्रतिनिधियों को जड़ी बूटियों के बारे में जानकारी दी जायेगी और उन्हें महिलायें तथा बच्चों के स्वास्थ्य रक्षण व सवंर्द्धन का प्रशिक्षण दिया जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: